March 30, 2020

करंट न्यूज़

खबर घर घर तक

कपिल मिश्रा विवादों में घिरे: दिल्ली के जाफराबाद में भीड़े CAA समर्थक और विरोधी

Kapil Mishra

नागरिकता संशोधन क़ानून के विरोध में देश के कई इलाकों में धरने और प्रदर्शनों का सिलसिला जारी है| इसी मुद्दे पर रविवार को दिल्ली में जाफ़राबाद के क़रीब मौजपुर मेट्रो स्टेशन के पास उस वक़्त तनाव और फिर पत्थरबाज़ी हो गई जब बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने कहा कि अगर पुलिस ने इस इलाके में बंद पड़े रास्ते तीन दिन में नहीं खुलवाए तो फिर हम पुलिस की भी नहीं सुनेंगे|

कपिल मिश्रा ने कहा कि वो डोनाल्ड ट्रंप के दौरे तक ही चुप हैं| कपिल मिश्रा के बयान के बाद वहां नागरिकता संशोधन क़ानून का विरोध और समर्थन कर रहे लोगों के बीच पत्थरबाज़ी शुरू हो गई| हालात को देखते हुए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े| काफ़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने दोनों ही पक्षों को एक दूसरे से दूर किया| इसके बाद शाम को नागरिकता क़ानून के विरोध में वहां महिलाओं ने धरना शुरू कर दिया जबकि दूसरी ओर समर्थक भी नारेबाज़ी पर उतर आए|

CAA ,NRC को लेकर आपस में भिड़े लोग

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के खिलाफ दिल्ली के जाफराबाद में चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच बीजेपी  नेता और दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान मॉडल टाउन से बीजेपी प्रत्याशी रहे कपिल मिश्रा ने बड़ा बयान दिया है|उन्होंने कहा है कि दिल्ली में दूसरा शाहीन बाग नहीं बनने देंगे|

सीएए और एनआरसी के खिलाफ जाफराबाद में चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच सीएए और एनआरसी के समर्थन में कपिल मिश्रा मौजपुर में अपने समर्थकों के साथ सड़क पर उतर आए|

क्या कपिल मिश्रा के आने से तेज़ हुआ प्रदर्शन

भारतीय जनता पार्टी के नेता कपिल मिश्रा के एलान के बाद अगर दिल्ली पुलिस अलर्ट हो जाती तो शायद जाफराबाद के मौजपुर में हालत तनावपूर्ण नहीं होते और न हीं पत्थरबाजी होती। दोनों पक्षों के बीच जब पत्थरबाजी हो रही थी उस समय भी मौके पर पुलिसकर्मी बहुत कम संख्या में थे। मौके दिल्ली पुलिस के कुछेक जवानों के अलावा आरपीएफ के कुछ जवान दिखाई दे रहे थे। इलाके में देर रात तक हालात तनावपूर्ण बने हुए। दिल्ली पुलिस अधिकारी स्थिति के नियत्रंण में होने का दावा कर रहे थे।
कपिल मिश्रा का विवादित ट्ववीट :-

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में जाफराबाद मुख्य सड़क पर चल रहे प्रदर्शन को लेकर भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है कि जाफराबाद में अब स्टेज बनाया जा रहा है। एक और इलाका जहां अब भारत का कानून चलना बंद हो गया।

यूपी के सोनभद्र में मिला 3,000 टन सोना, सरकार देगी अब इसके खनन का ठेका

कपिल ने आगे लिखा कि सही कहा था मोदी जी ने, शाहीन बाग एक प्रयोग था। उन्होंने लिखा कि एक-एक करके सड़कों, गलियों, बाजारों, मुहल्लों को खोने के लिए तैयार रहिए। चुप रहिए, जब तक आपके दरवाजे तक ना आ जाएं, चुप रहिए।
इससे पहले भी कपिल ने जाफराबाद प्रदर्शन को लेकर ट्वीट किया था कि- अभी रात को दिल्ली के जाफराबाद की मेन रोड पर भी कब्जा कर लिया गया है। उन्होंने शाहीन बाग पर तंज कसते हुए कहा था कि एक और सड़क बंद। बांटो बिरयानी।

दिल्ली पुलिस का इस पर क्या है बयान

संयुक्त पुलिस आयुक्त (पूर्वी रेंज) आलोक कुमार ने कहा, “हम इस घटना के लिए जिम्मेदार लोगों की पहचान कर रहे हैं|” एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि हालात नियंत्रण में हैं| उन्होंने कहा, “हम स्थानीय नेताओं से लगातार बात कर रहे हैं ताकि इलाके में शांति बनी रहे और हम प्रदर्शनकारियों से मुख्य सड़क से हटने का भी
अनुरोध कर रहे हैं|” अधिकारी ने बताया कि किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए मौजपुर इलाके में पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं| मिश्रा ने ट्वीट किया, ”हमने दिल्ली पुलिस को सड़क खाली कराने के लिये तीन दिन का समय दिया है. जाफराबाद और चांदबाग की सड़क खाली कराएं|”

बीजेपी नेता कपिल मिश्रा पर दंगे भड़काने का केस दर्ज

शिकायत में कहा गया है कि कपिल मिश्रा ने लाेगाें काे सुनिश्चित तरीके से भड़काने के लिए बकायदा पहले ट्वीट किया, जिसके बाद माैजपुर चाैक पर भीड़ इक्कठा हुई और देखते ही देखते हालात बेकाबू हाे गए। शिकायत वकील रुखसार अहमद, माेहम्मद दानिश, नदीम उजमा, अकरम, माेहम्मद जाकिर व वसीम खान की ओर से दी गई है।

शिकायत में कहा गया है कि कपिल मिश्रा के ट्वीट के बाद ही वहां लाेग जमा हुए और इलाके में तनाव पैदा हुआ। उसके बाद कपिल मिश्रा ने लाेगाें काे सीएए का विराेध करने वालों के खिलाफ भड़काया, जिससे लाेगाें ने पथराव शुरू कर दिया।
शिकायतकर्ताओं ने कपिल मिश्रा के खिलाफ दंगा भड़काने और शांति भंग करने का मामला दर्ज कर जांच करने की मांग की है।

Share and Enjoy !

0Shares
0 0 0

Pin It on Pinterest