April 1, 2020

करंट न्यूज़

खबर घर घर तक

यूपी के सोनभद्र में मिला 3,000 टन सोना, सरकार देगी अब इसके खनन का ठेका;

Sondbhdra

यूपी के सोनभद्र में सोने के एक बड़े भंडार का पता लगा है,यहां की पहाड़ियों के गर्भ में 3000 टन सोने का भंडार होने के संकेत मिले हैं|इलाके की पहाड़ियों में सोने की भारी खान का पता लगाने में सरकार को 40 साल से अधिक का समय लग गया है |

सोनभद्र जिला पहले से ही खनिज संपदा के लिए पूरे देश में विख्यात है,अब यहां सोने का बड़ा भंडार मिलने के बाद यह पूरी दुनिया की निगाह में आ गया|सोने की खोज करने और इस संबंध में मिली जानकारी को पुख्ता करने में वैज्ञानिकों की टीम को पूरा 40 साल का वक्त लग गया है |

जानिए कैसे पड़ा सोन पहाड़ी का नाम –

गुलामी के दौर में अंग्रेजों ने भी सोने की खान का पता लगाने की कोशिश की थी लेकिन वे कामयाब नहीं हो सके थे आजादी से पहले ही सोने के लिए हुई खोज के चलते ही पहाड़ी का नाम सोन पहाड़ी पड़ गया था, तब से लेकर अब तक यहां के आदिवासी इसे सोन पहाड़ी के नाम से ही जानते हैं, उन्हें इस बात का अंदाजा भी नहीं था कि इन पहाड़ियों के गर्भ में तीन हजार टन सोना दबा पड़ा है |

अलग-अलग स्थानों पर मिला भंडार –

जीएसआई के मुताबिक सोनभद्र की सोन पहाड़ी पर 2943.26 टन सोना और हरदी ब्लॉक में 646.15 किलो सोने का भंडार मिला है। इसी प्रकार पुलवार ब्लॉक में दो स्थानों पर 12.7 टन और 22.16 टन तथा सलइयाडीह ब्लॉक में, 60.18 टन एंडालुसाइट का भंडार मिला है। पटवध ब्लॉक में 9.15 टन पोटाश व भरहरी ब्लॉक में 14.87 टन लौह अयस्क और छिपिया ब्लॉक में 9.8 टन सिलीमैनाइट के भंडार की खोज की गई है।

यूपी सोनभद्र
इसे भी पढ़ें:- मोदी ने की ट्रम्प के स्वागत की तैयारियां,यहां जानिये उनका सारा प्लान-
2005 में शुरू हुई थी प्रक्रिया भू-वैज्ञानिक की टीम ने वर्ष 2005 से 2012 तक इस दिशा में काम शुरू किया था। सोने के भंडार की पुष्टि वर्ष 2012 में हुई थी लेकिन, इस दिशा में काम अब शुरू हो रहा है। अब यूपी सरकार ने भी तेजी दिखाते हुए सोने को बेचने के लिए ई-नीलामी प्रक्रिया शुरु कर दी है।

वरिष्ठ खनन अधिकारी K.K ROY ने बताया कि उत्तर प्रदेश शासन के निर्देश पर चिह्नित सभी खनन स्थलों का सीमांकन कार्य पूरा कर लिया गया है|अब वन विभाग की भूमि के नक्शे से सीमांकन का मिलान कर यह देखा जाएगा कि कहीं यह स्थल वन भूमि में तो नहीं आ रहा|

इसे भी पढ़ें:- BB 13 के कंटेस्टेंट आसिम को किंग खान की बेटी सुहाना के साथ मिला डेव्यू करने का मौका

अगर यह खदान वन भूमि के दायरे में आती है तो इसकी रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी|इसके बाद इस भूमि को धारा 20 के तहत अधिग्रहित किया जायेगा|खनन चालू होते ही प्रदेश सरकार को अरबों रुपये का राजस्व मिलेगा, जिसके लिए कहा जा रहा है कि यूपी सरकार को इससे 12 लाख करोड़ रुपये की आमदनी हो सकती है |

Image Source:- https://www.currentnewsdainik.com

Share and Enjoy !

0Shares
0 0 0

Pin It on Pinterest