April 1, 2020

करंट न्यूज़

खबर घर घर तक

येस बैंक: प्रियंका गांधी वाड्रा से 2 करोड़ की पेंटिंग पर राणा कपूर से पूछताछ।

येस बैंक

येस बैंक के आर्थिक संकट मामले में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा कई जगह पर छापेमारी की जा रही है। इस मामले से जुड़े एक खुलासे पर राजनीतिक बवाल भी शुरू हो गया है। येस बैंक के को-फाउंडर राणा कपूर के द्वारा खरीदी गई एक पेंटिंग पर ईडी की नज़र है, जिसकी कीमत दो करोड़ रुपये बताई जा रही है।

प्रवर्तन निदेशालय ने अब इस मामले में जांच शुरू कर दी है। दावा किया जा रहा है कि राणा कपूर ने ये पेंटिंग दो करोड़ रुपये में प्रियंका गांधी वाड्रा से खरीदी थी। इसी मामले में अब एजेंसियां राणा कपूर से पूछताछ कर रही है।

ईडी के सूत्रों ने दावा किया है कि कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा ने राणा कपूर को ये पेंटिंग खरीदने के लिए मनाया था। जिसके बाद ईडी ने इस पैसे के लेन-देन की जांच शुरू कर दी है।

 

येस बैंक

11 मार्च तक प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत में रहेंगे राणा कपूर

येस बैंक के पूर्व सीईओ राणा कपूर के पूरे परिवार के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किया जा चुका है। बैंक संस्थापक राणा कपूर को 11 मार्च तक प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत में भेज दिया गया है। ईडी के अधिकारी 30 से ज्यादा घंटे तक राणा कपूर से पूछताछ कर चुके हैं। बैंक संकट के पीछे राणा कपूर और उनके परिवार का प्रमुखता से नाम सामने आ रहा है।

इसे भी पढ़े:-बलात्कार : आदिवासी युवती के साथ हुआ सामूहिक बलात्कार….

कांग्रेस की तरफ से इस मामलें पर सामने आई सफाई

यस बैंक मामले में एक खुलासे के बाद भाजपा और कांग्रेस आमने-सामने आ गई है। दरअसल, बीजेपी के आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय ने एक मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए ट्वीट किया और आरोप लगाया, ‘देश में हर वित्तीय अपराध का गांधी परिवार से ताल्लुक रहता है।

 

अमित मालवीय ने कहा कि माल्या सोनिया गांधी को फ्लाइट अपग्रेड टिकट भेजता था और उसकी चिदंबरम और मनमोहन सिंह तक पहुंच थी।’ मालवीय ने इस ट्वीट में आगे लिखा कि राहुल गांधी ने नीरव मोदी के ज्वेलरी कलेक्शन का उद्धाटन किया और राणा कपूर ने प्रियंका गांधी से पेंटिंग खरीदी।

अमित मालवीय के ट्वीट पर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पलटवार किया और कहा, ‘एमएफ हुसैन की पेंटिंग 10 साल पहले प्रियंका गांधी ने राणा कपूर को बेची और इसका आयकर रिटर्न में भी जिक्र किया, इसका मोदी सरकार में अप्रत्याशित ढंग से दिए गए 2 लाख करोड़ रु के लोन से कैसे संबंध हो सकता है।

 

 

कांग्रेस नेता ने कहा कि राणा कपूर की भाजपा नेताओं से नजदीकी सबको मालूम है। वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने भी कहा कि प्रियंका गांधी ने अपने पिता राजीव गांधी के चित्र वाली एमएफ हुसैन की जो पेंटिंग बेची, उसका भुगतान चेक से किया गया था और इसका आयकर रिटर्न में जिक्र भी किया गया था।

 

उन्होंने कहा कि सरकार ये सब केवल ध्यान भटकाने के लिए कर रही है। सिंघवी ने कहा कि मार्च,2014 में बैंक की लोन बुक 55,633 करोड़ रु की थी जो 2019 में 2,41,499 करोड़ की हो गई। मार्च में 2016 में लोन बुक 98,120 करोड़ थी जो मार्च 2018 में 2,03,534 करोड़ हो गई। नोटबंदी के बाद लोनबुक में 100 फीसदी का इजाफा कैसे हुआ? क्या प्रधानमंत्री और वित्तमंत्री सो रहे थे? बता दें कि राणा कपूर को प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ्तार कर लिया था। कपूर के खिलाफ सीबीआई ने भी केस दर्ज किया है।

कई कंपनियों का मालिक कपूर परिवार

राणा कपूर की पत्नी बिंदु कपूर, उनकी बेटियां राखी कपूर, रोशनी कपूर और राधा कपूर कई कंपनियों की मालिक हैं। बिंदु कपूर फिलहाल 18 कंपनियों की डायरेक्टर हैं। उनकी बेटियां रोशनी कपूर और राधा कपूर 20 से ज्यादा कंपनियों की मालिक हैं। आरोप है कि येस बैंक से लोन जारी करने के बदले में इन्हें कई कॉर्पोरेट कंपनियों से रिश्वत भी मिली।

अब तक की गई पड़ताल में यह सामने आया है कि रिश्वत का लेनदेन सीधे तरीके से नहीं हुआ। इस पूरी प्रक्रिया में दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉर्पोरेशन (डीएचएफएल) के कई प्रमोटर शामिल थे। डीएचएफएल की ओर से DoIT अर्बन वेंचर्स को 600 करोड़ रुपये का लोन मंजूर करना, असल में येस बैंक का लोन चुकता न करने की रिश्वत थी।

डिफॉल्टर कंपनियों को लोन बांटने के बाद येस बैंक की आर्थिक हालात बिगड़ती चली गई जिसकी वजह से लाखों ग्राहकों पर संकट आ गया। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने इसके बाद येस बैंक पर कैप लगाई और ग्राहक सिर्फ 50 हजार रुपये महीना ही निकाल सकता है। इसी के बाद जांच एजेंसियां एक्टिव हुईं और राणा कपूर को हिरासत में लिया गया।

सिर्फ राणा कपूर ही नहीं बल्कि उनकी बेटी-पत्नी पर भी एजेंसियों की नज़र है। रविवार को राणा कपूर की पत्नी-बेटी से पूछताछ की गई। साथ ही पूरे परिवार के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी कर दिया गया है।

इसे भी पढ़े:-मोदी सरकार ने दिया EPFO के कर्मचारियों को होली से पहले बड़ा झटका

हालांकि इन तमाम आरोपों पर राणा कपूर ने चुप्पी साध रखी है। हिरासत में जान से पहले जब मीडिया ने उनसे पूछताछ करने की कोशिश की तो भी वे चुप्पी साधते नजर आए।

सोमवार सुबह भी सीबीआई और ईडी ने दिल्ली-मुंबई में राणा कपूर से लेकर DHFL के ठिकानों तक छापेमारी की गई। इस छापेमारी में DHFL, RKW, DUVP, HDIL के ठिकानों में सर्चिंग की जा रही है।

Share and Enjoy !

0Shares
0 0 0

Pin It on Pinterest