Read Time:2 Minute, 52 Second

इसे भी पढ़े:BCCI प्रेसिडेंट सौरव गांगुली को आया कार्डियक अरेस्ट, हुए अस्पताल में भर्ती

2008 टेस्ट मैच विवाद: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच बाॅर्डर-गावस्कर टेस्ट सीरीज का तीसरा मैच 7 जनवरी से सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जाना है। चार मैचों की सीरीज अभी 1-1 से बराबर है। टीम इंडिया पिछले 43 साल से सिडनी में एक भी टेस्ट मैच नहीं जीत पाई है। 2008 में खेले गए टेस्ट मैच में टीम इंडिया जीत के काफी करीब थी लेकिन अंपायरों के गलत फैसले के कारण भारतीय टीम टेस्ट मैच हार गई थी। भारत के पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने उस टेस्ट मैच को याद करते हुए कहा वह एक खराब अनुभव था।

आज भी हॉस्पिटल से डिस्चार्ज नहीं होंगे गांगुली, जानिए क्या है वजह

2008 टेस्ट मैच विवाद: भारत के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज ने कहा, ‘मैं इसे ऑस्ट्रेलियाई टीम का बुरा व्यवहार नहीं कहूंगा। लेकिन मेलबर्न टेस्ट मैच में हार के बाद हमारे पास सिडनी टेस्ट मैच जीतने का अच्छा मौका था। मुझे पता है कि यह टेस्ट मैच मंकी गेट प्रकरण के लिए याद किया जाएगा। लेकिन हम वह मैच जीत सकते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘पहली पारी में भारतीय टीम ने शानदार गेंदबाजी की थी। शुरुआती विकेट गिरने के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम दबाव में थी। एंड्रयू सायमंड्स दो से तीन बार आउट थे।

AUSvIND: चौथे टेस्ट को लेकर हुए विवाद पर खुलकर बोले ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन, कहा- मुझे लगा बवाल बढ़ने वाला था

लक्ष्मण ने कहा, ‘आरपी सिंह की गेंद पर सायमंड्स के बल्ले का किनारा लगा था। लेकिन अंपायर ने नाॅट-आउट करार दिया था। उसके बाद सायमंड्स ने बड़ी पारी खेली। अंतिम दिन जिस तरीके से सौरव और द्रविड़ को आउट दिया गया वह एक खराब अनुभव था।

इसे भी पढ़े:https://www.hindustantimes.com/cricket/the-way-sourav-rahul-were-out-was-in-poor-taste-vvs-laxman-recalls-umpiring-blunders-during-2008-sydney-test/story-eLs6pilX26BsAEfjik9OAK.html

About Post Author

Author

administrator