Read Time:4 Minute, 0 Second
हिमा दास

भारत की 20-वर्षीय स्टार फर्राटा धाविका हिमा दास ने शुक्रवार को असम पुलिस में उप अधीक्षक (डीएसपी) के रूप में पुलिस महकमे को ज्वाइन किया। शुक्रवार को आयोजित एक समारोह में असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने हिमा को पुलिस उपाधीक्षक के पद का नियुक्ति पत्र सौंपा। इस मौके पर असम पुलिस महानिदेशक समेत शीर्ष पुलिस अधिकारी और प्रदेश सरकार के अधिकारी मौजूद थे। हिमा को सरुसजै खेल परिसर में उन्हें नियुक्ति पत्र दिया गया।

इस मौके को हिमा ने इसे अपने बचपन का सपना सच होने जैसा बताया। 

‘ढिंग एक्सप्रेस’ के नाम से फेमस 20 साल की हिमा असम की रहने वाली हैं। हिमा आईएएएफ वर्ल्ड अंडर-20 चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने वाली भारत की एकमात्र महिला धाविका हैं। उन्होंने 51.46 सेकेंड्स में रेस पूरी की थी।

बचपन का सपना पूरा हुआ: हिमा दास 

मीडिया से बातचीत में हिमा ने कहा कि वह बचपन से पुलिस अधिकारी बनने का सपना देखती आई हैं। स्कूली दिनों से ही मैं पुलिस अधिकारी बनना चाहती थी और यह मेरी मां का भी सपना था। मेरी माँ दुर्गापूजा के दौरान मुझे खिलौने में बंदूक दिलाती थी। हिमा ने कहा, ‘मुझे जो भी कुछ मिला है, वह सब कुछ खेलों की वजह से मिला है। 

नौकरी के साथ खेल को जारी रखूंगी

एशियाई खेलों की रजत पदक विजेता और जूनियर विश्व चैम्पियन हिमा ने कहा की नौकरी के साथ खेल और अपने करियर को जारी रखेंगी। उन्होंने कहा,” मैं प्रदेश में खेल की बेहतरी के लिए और काम करूंगी और असम को हरियाणा की तरह सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला राज्य बनाने की पूरी कोशिश करूंगी।

हिमा दास

 ये भी पड़े : AHMEDABAD test match : जानिये अहमदाबाद मैच की 5 अहम बातें

इन खिलाडियों को भी मिला है भारतीय पुलिस में अधिकारी का पद 

भारत के दर्जनों खिलाडियों को खेल में उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए भारतीय पुलिस सेवाओं में अहम मिला है। इस कड़ी में पूर्व दिग्गज स्पिनर हरभजन सिंह, पेसर जोगिंदर शर्मा (हरियाणा पुलिस में डीएसपी), पूर्व हॉ​की कप्तान राजपाल सिंह (मोहाली में डीएसपी), CWG गोल्ड मेडलिस्ट अखिल कुमार (गुरुग्राम पुलिस में एसीपी) और एशियन गेम्स चैंपियन कबड्डी खिलाड़ी अजय ठाकुर (हिमाचल प्रदेश में डीएसपी) समेत अनेकों नाम शामिल हैं। 

कोरोना काल में की थी ड्यूटी 

खेल के मैदान पर देश का परचम लहराने वाले भारतीय खिलाड़ी(जिन्होंने पूर्णकालिक पुलिस अधिकारी के रूप में जॉइनिंग ले रखी है) बीते साल कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में देशव्यापी बंद के दौरान पुलिस की अपनी ड्यूटी निभाते हुए सड़कों पर उतरकर लोगों से अपने घरों में रहने का आग्रह करते नजर आये थे।

ये भी पड़े : navbharattimes.indiatimes.com

IMAGE SOURCE : www.google.com

About Post Author

Author

administrator