August 4, 2020

करंट न्यूज़

खबर घर घर तक

IAS ने 12वीं के मार्क्स शेयर कर ये साबित किया कि नंबर्स सब तय नहीं करते

IAS ने 12वीं के मार्क्स शेयर कर ये साबित किया कि नंबर्स सब तय नहीं करते

हम उससे Well Trained कहते है, Well एडुकेटेड नहीं

रिजल्ट शीट में आने वाले मार्क्स ही आपकी सफलता का पैमाना नहीं तय करते| 3 डियट्स जैसी फिल्म ने इस बात बेहद खूबसूरत तरीके से समझाया था| “चाबुक के दर से तो सर्कस का शेर भी उछल कर कुर्सी पे बैठना सिख जाता है,पर हम उससे Well Trained कहते है, Well एडुकेटेड नहीं|”

केमिस्ट्री

यह भी पढ़े:- एक रिसर्च के मुताबिक 21 साल की उम्र में शादी करने वाले लोग बन सकते हैं शराबी

केमिस्ट्री में पासिंग मार्क्स

मतलब सीधा-सीधा ये है कि अगर आपको मार्क्स कम भी है, तो ये आपकी सफलता तय नहीं करता| ज्ञान ज्यादा अहमियत रखता है| इसी कड़ी में,एक IAS अफसर ने अपनी 12वीं कि मार्कशीट सोशल मीडिया पर सांझा की, जिसमे उन्हें केमिस्ट्री में सिर्फ 24 मार्क्स मिले है,जोकि पासिंग मार्क्स से सिर्फ एक ही ज्यादा है|

मार्क्स ये डिसाइड नहीं कर सकते कि आप क्या हासिल करेंगे

आईएएस अधिकारी नितिन सांगवान ने साल 2002 से अपनी 12 सीबीएसई मार्कशीट ट्विटर पर शेयर की. ये माार्कशीट देख कर आप इतना तो समझ ही गए होंगे कि नितिन आज जहां हैं, वहां ये नंबर सही में मायने नहीं रखते| सांगवान ने खराब ग्रेड सबके साथ शेयर कर ये सन्देश देने की कोशिश की है कि सिर्फ़ मार्क्स ये डिसाइड नहीं कर सकते कि आप क्या हासिल करेंगे|

यह भी पढ़े:- सचिन पायलट से बहुत ज्यादा कमाती हैं पत्नी सारा अब्दुल्ला

केमिस्ट्री में 24 अंक मिले – पास होने के लिए सिर्फ 1 नम्बर ज्यादा

अमवाद नगर निगम के उप नगर आयुक्त और स्मार्ट सिटी, अहमदाबाद के सीईओ ने कहा, “मेरी 12 वीं की परीक्षाओं में मुझे केमिस्ट्री में 24 अंक मिले – पास होने के लिए सिर्फ 1 नम्बर ज्यादा. लेकिन इससे यह तय नहीं हुआ कि मैं अपने जीवन से क्या चाहता था.”.

12वीं का अंक पत्र ट्वीटर पर शेयर किया है

दरअसल, नितिन सांगवान नाम के एक आईएस अधिकारी ने साल 2002 का 12वीं का अंक पत्र ट्वीटर पर शेयर किया है और लिखा कि मेरी 12वीं की परीक्षा में मुझे रसायन विज्ञान (केमिस्ट्री) में 24 अंक मिले थे, पासिंग नंबर से सिर्फ एक अधिक। लेकिन उसने यह तय नहीं किया कि मैं अपने जीवन से क्या चाहता था।अंकों के बोझ में बच्चों को मत दबाओ, जिंदगी बोर्ड के परिणामों की तुलना में बहुत बड़ी है। परिणामों को आत्मनिरीक्षण के तौर पर देखें आलोचना के लिए नहीं। सांगवान का यह ट्वीट वायरल हो गया, जिसे 35 हजार से अधिक लाइक और नौ हजार से ज्यादा रिट्वीट मिले हैं। लोग इस पोस्ट की जमकर तारीफ कर रहे हैं और इसे महत्वपूर्ण बता रहे हैं।

Image Source:- www.indiatimes.com

Share and Enjoy !

0Shares
0 0

Pin It on Pinterest