Read Time:4 Minute, 38 Second

देश में अचानक हुई ऑक्सीजन की कमी के मद्देनजर केंद्र सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। इससे मरीजों के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति में बहुत मदद मिलेगी। दरअसल, केन्‍द्र सरकार ने राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों को निर्देश दिया है कि तरल ऑक्‍सीजन का इस्‍तेमाल विशेष तौर पर चिकित्‍सा उद्देश्‍यों के लिए ही किया जाना चाहिए। केंद्र के नए फैसले के अनुरूप ऑक्सीजन के उपयोग के संबंध में अब उन 9 उद्योगों को दी गई छूट भी वापस ले ली गई है, जिन्हें यह छूट केंद्र सरकार ने 22 तारीख को जारी किए नोटिस में महत्वपूर्ण उद्योगों के बतौर दी थी।

अधिक उत्पादन की अपील की

केन्‍द्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने राज्‍यों के मुख्‍य सचिवों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों के प्रशासकों को इस संबंध में पत्र लिखा है। गृह सचिव भल्ला ने ऑक्सीजन उत्‍पादन इकाइयों से अधिक से अधिक उत्‍पादन करने और इसे सरकार को उपलब्ध कराने को कहा है। यह निर्देश अगले आदेश तक प्रभावी रहेगा।

गृह सचिव ने निर्देश दिया कि तरल ऑक्‍सीजन का उपलब्‍ध सारा भंडार सरकार को उपलब्‍ध कराया जाना चाहिए, जिससे इसका चिकित्‍सा में प्रयोग किया जा सके। गृह सचिव ने बताया तरल ऑक्‍सीजन के उपयोग के संबंध में किसी उद्योग को कोई छूट नहीं दी गई है।

जिला अस्पतालों में लगाए जाएंगे 551 ऑक्सीजन प्लांट

वहीं, पीएमओ द्वारा जानकारी दी गई है कि अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता बढ़ाने के पीएम के निर्देश पर, पीएम केयर्स फंड ने सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं के अंदर 551 समर्पित Pressure Swing Adsorption Medical Oxygen Generation Plants की स्थापना के लिए धन के आवंटन के लिए मंजूरी दी है।

पीएमओ द्वारा बताया गया कि पीएम ने निर्देश दिया है कि इन प्लांट्स को जल्द से जल्द कार्यात्मक बनाया जाना चाहिए। ये समर्पित संयंत्र विभिन्न राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों में जिला मुख्यालय में चिह्नित सरकारी अस्पतालों में स्थापित किए जाएंगे। पीएमओ ने बताया कि ये खरीद स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के माध्यम से की जाएगी।

ऑक्सीजन एक्सप्रेस कर रही है देश भर में ऑक्सीजन की आपूर्ति

भारतीय रेलवे द्वारा कोविड-19 के खिलाफ देश की लड़ाई में सहयोग के लिए ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ चलाई जा रही हैं। इसी क्रम में महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश के लिए लिक्विड चिकित्सा ऑक्सीजन (एलएमओ) से भरे टैंकरों को लेकर ये ऑक्सीजन एक्सप्रेस रेलगाड़ियां नासिक और लखनऊ पहुंच चुकी हैं। भारतीय रेलवे ने बताया कि पिछले 48 घंटों के दौरान ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने 150 टन ऑक्सीजन देश के कई राज्यों में पहुंचाई है। इसके अलावा रविवार रात को भी एक और ऑक्सीजन एक्सप्रेस 4 टैंकर में 70 मीट्रिक टन आक्सीजन लेकर रायगढ़ से दिल्ली के लिए रवाना हुई है जो आज रात तक दिल्ली पहुंच जाएगी।

गौरतलब हो, विशाखापत्तनम और बोकारो में भरे गये इन एलएमओ टैंकरों को वर्तमान में भारतीय रेल की रो-रो सेवा के जरिए ले जाया जा रहा है। वहीं, आंध्र प्रदेश, दिल्ली जैसे राज्य ऐसी और अधिक रेलगाड़ियां चलाने के लिए रेलवे के साथ परामर्श कर रहे हैं।

About Post Author

Author

administrator