कर्नाटक में कांग्रेस विधायकों की बैठक

कर्नाटक में कांग्रेस विधायकों की बैठक| राज्यपाल के खिलाफ एक और याचिका दायर

आपको बता दें कि कर्नाटक में कांग्रेस का नाटक सोमवार को ख़त्म हो सकता है| विधानसभा अध्यक्ष के. आर. रमेश कुमार द्वारा दी गई दो समय सीमाओं को पूरा ना कर पाने पर सदन को सोमवार तक के लिए स्थगित कर दिया| अब देखना बाकी यह है कि राज्यपाल वजुभाई वाला का अगला कदम क्या होगा|

सदन को स्थगित करने से पहले अध्यक्ष ने कहा कि सोमवार को विश्वास प्रस्ताव पर अंतिम निर्णय लिया जाएगा और इसे अन्य किसी भी परिस्थिति में आगे नहीं बढ़ाया जाएगा|” इस पर सरकार ने सहमती दिखाई| हालांकि इससे पहले ही कांग्रेस के विधायक आज बैठक करने वाले हैं| 22 जुलाई को फ्लोर टेस्ट से पहले आज बेंगलुरु के ताज होटल में कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की बैठक होगी|

बैठक में कांग्रेस विधायक भी शामिल

बताया जा रहा है कि आज शाम 5.30 बजे ये बैठक होगी| जिसमे कोंग्रेस के विधायक शामिल होंगे| और आगे की रणनीति पर चर्चा करेंगे| वहीं कर्नाटक कांग्रेस के अध्यक्ष दिनेश गुंडू राव ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया| और कोर्ट के आदेश “कांग्रेस और जेडीएस के 15 विधायकों को सदन की कार्यवाही में हिस्सा लेने के लिए बाध्य नहीं किया” पर कहा कि “विधायकों को व्हिप जारी करने के अधिकार का हनन करता है|”

वही राज्यपाल ने कुमारस्वामी को दूसरे पत्र में कहा कि, ‘‘जब कांग्रेस विधायकों की खरीद-फरोख्त के व्यापक स्तर पर आरोप लग रहे हैं और मुझे इसकी कई शिकायतें मिल रही हैं, यह संवैधानिक रूप से अनिवार्य है कि विश्वास मत बिना किसी विलंब के आज ही पूरा हो| मैं, इसलिये कह रहा हूं कि अपना बहुमत साबित करें और विश्वास मत की प्रक्रिया को पूरा कर आज ही इसे संपन्न करें|”

कुमारस्वामी ने शुक्रवार को राज्यपाल वजूभाई वाला के खिलाफ उच्चतम न्यायालय में एक और याचिका दायर कर कहा है कि “राज्यपाल वजूभाई वाला विधानसभा को निर्देशित नहीं कर सकते कि विश्वास मत प्रस्ताव किस तरह लिया जाये| आपको बता दें कि राज्यपाल ने मुख्यमंत्री को भेजे दूसरे संदेश में कहा कि सत्तारूढ़ जनता दल (एस)-कांग्रेस गठबंधन “प्रथम दृष्टया” सदन का विश्वास खो चुका है|

Image Source : Google

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *