Read Time:4 Minute, 27 Second

Gorakhpur News: गोरखपुर रेलवे बस स्टेशन से महराजगंज जिले के दो सर्राफा कारोबारियों को बुधवार को चेकिंग के बहाने अगवा कर नौसढ़ में नगदी-जेवर समेत 30.20 लाख की लूट करने वाले वर्दीधारी असली पुलिसवाले निकले । ये बदमाश कोई और नहीं, बस्ती जिले के पुरानी बस्ती थाने में तैनात दरोगा और दो सिपाही थे। गोरखपुर पुलिस ने गुरुवार को तीनों पुलिसवालों समेत पांच को दबोचकर वारदात का खुलासा कर दिया। उनके पास से लूटी गई नगदी और सोना भी बरामद कर लिया गया है। इसके खिलाफ एनएसए और गैंगस्टर की कार्रवाई होगी तीनों आरोपियों को निलंबित कर दिया गया है। बखास्तगी को भी अफसरों को लिखा जा रहा है ।

महराजगंज के निचलौल कस्बे से लखनऊ जा रहे दो सराफा कारोबारियों दीपक वर्मा औररामू वर्मा को बुधवार की सुबह वर्दीधारी ये बदमाश चेकिंग के बहाने रेलवे बस स्टेशन से बस से उतारकर ऑटो से नौसढ़ की तरफले गए थे। वहां पिस्टल दिखाकर 19 लाख रुपये और 11.20 लाख रुपये की कीमत के गहने लूट लिए थे। व्यापारी शिकायत लेकर पहुंचे तो पुलिसवालों ने वारदात को झुठलाने की कोशिश की मगर बाद में अफसरों के कड़े तेवर के बाद पुलिस सक्रिय हुई और सीसीटीवी कैमरेकी मदद से उस बोलेरो की तलाश शुरू हुई जिसमें वर्दीधारियों ने दोनों कारोबारियों को बैठाने की कोशिश की थी।

इसे भी पढ़े:Gorakhpur Police का कारनामा: दरोगा और सिपाही ने लूटे 30 लाख, जानें मामला

फुटेज के जरिये बोलेरो का सुराग मिल गया जो बस्ती की निकली। बोलेरो के नम्बर के जरिये मालिक की जानकारी जुटाने के बाद गोरखपुर पुलिस की टीम बस्ती पहुंची। वहां पुलिस ने पहले बोलेरो के ड्राइवर देवेन्द्र यादव को दबोचा। ड्राइवर ने बताया कि वह पुलिसकर्मियों को लेकर गोरखपुर गया था। उन्होंने बताया था कि दबिश में एक बदमाश को पकड़ना है। इसके बाद दरोगा धर्मेंद्र यादव और दोनों सिपाहियों को दबोचकर कड़ी पूछताछ की गई तो उन्होंने वारदात को अंजाम देना कबूल कर लिया। मुखबिरी करने वाले महराजगंज के इटहिया, ठूठीबारी निवासी शैलेष यादव और मारवाड़ी टोला, निचलौल के दुर्गेश अग्रहरि को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। एसएसपी जोगेन्द्र कुमार ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों के पास से लूट की रकम और सोना बरामद कर लिया गया है।

30 दिसंबर की लूट भी कबूली

Gorakhpur News: एसएसपी के मुताबिक पूछताछ में इन आरोपियों ने 30 दिसम्बर को शाहपुर इलाके में एक अन्य सर्राफाकारीवारी से हुई लूट की वारदात में भी शामिल होना कबूला है। उसमें दरोगा के अलावा एक अन्य सिपाही तथा यही बोलेरो चालक शामिल था।

उस वारदात में लूट गए चांदी के गहने भी पुलिस ने बरामदकिए है। खुलासा करने वाली टीम को एसएसपी ने 25 हजाररुपये पुरस्कार देने की घोषणा की वहीं गोरखपुर और महराजगंज के सराफा व्यापारियों ने भी इस खुलासे पर पुलिस का आभार जताया और इनाम देने की पेशकश की।

इसे भी पढ़े: Bengal Vidhan Sabha chunav- बंगाल विधान सभा में होंगे 1 लाख से ज्यादा मतदान केंद्र

Rajasthan से बड़ी खबर Sachin Pilot से डरे Ashok Gehlot ?

About Post Author

Author

administrator