Read Time:5 Minute, 38 Second

Health News: आज कल लोगों में फेफड़ों का कैंसर होने का खतरा काफी बढ़ता जा रहा है। अगर इसका पता बहुत देर से चले तो इंसान को बचा पाना काफी मुरश्शलक हो जाता है। स्टडी से पता चला है कि अधिकतर लोगों में फेफड़ों का कैंसर स्मोकिंग से फैलता है । पर कई केसो में जो लोग स्मोकिंग नहीं करते हैं उन्हें भी इस प्रकार का कैंसर होने के चांस रहते हैं। आज कल लोगों में फेफड़ों का कैंसर होने का खतरा काफी बढ़ता जा रहा है। अगर इसका पता बहुत देर से चले तो इंसान को बचा पाना काफी मुर्शलक हो जाता है। स्टडी से पता चला है कि अधिकतर लोगों में फेफड़ों का कैंसर स्मोकिंग से फैलता है। पर कई केसो में जो लोग स्मोकिंग नहीं करते हैं उन्हें भी इस प्रकार का कैंसर होने के चांस रहते हैं। वैज्ञानिकों का कहना है कि जो लोग लहसुन खाते हैं उन्हें इस रोग के विकास की संभावना 44 प्रतिशत कम होती है। सप्ताह में केवल दो बार लहसुन खा लेने से फेफड़ों का कैंसर नहीं होता। इसे हमेशा कच्चा खाना चाहिये।

lehsun

Health News: अगर स्मोकिंग करने वाले लहसुन खाएं तो वे 80 प्रतिशत तक इस बीमारी से बच सकते हैं। इसके अलावा लहसुन उन्हें भी खाने की सलाह दी जाती है जिनकी फैमिली हिस्ट्री में यह कैंसर पहले से ही मौजूद है।

लहसुन और फेफड़ों का कैंसर– लहसुन के ये गुण उसमें पाए जानेवाले पदार्थ एल्लोसिन से जुड़े हुए हैं। यह पदार्थ तब निकलता है जब लहसुन पीसा जाता है। नमकवाले पानी में रखा गया या उबला लहसुन शरीर में शोथ (इन्फ्लेमेशन) होने पर मदद करता है, क्योंकि वह एंटी-ऑक्सीडेंट का काम करता है।

कब और कैसे खाएं लहसुन– सलाह दी जाती है कि लहसुन को रोजाना खाली पेट या फिर रात को डिनर करने के बाद कच्चा खाना चाहिये। इसे खाने के बाद पानी का सेवन कुछ देर के लिये ना करें।

इसे भी पढ़े: उत्तर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग को लेकर याचिका, जानें- सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा

सेहत के लिए बादाम का तेल है फायदेमंद

Health News: बादाम तेल का इस्तेमाल आप सेहत और खूबसूरती दोनों के लिए कर सकते हैं। बादाम की ही तरह बादाम का तेल भी पोषक तत्वों और खनिजों से भरपूर होता है। इस तेल का इस्तेमाल आप खाना बनाने के लिए भी कर सकते हैं और चेहरे पर लगाने के लिए भी। बादाम तेल के नियमित सेवन से एक ओर जहां दिल से जुड़ी बीमारियों के होने का खतरा कम हो जाता है वहीं ये दिमागी सेहत के लिए भी फायदेमंद है। एनिमिया की शिकायत को दूर करके ये इम्यून सिस्टम को भी बूस्ट करने का काम करता है। आमतौर पर लोगों को लगता है कि किसी चीज को उसके मूल रूप में ही लेना फायदेमंद होता है। पर ऐसा नहीं है। बादाम के तेल में वो सभी गुण पाए जाते हैं जो बादाम में होते हैं।

almonds
  1. बादाम तेल के नियमित सेवन से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। इम्यून सिस्टम अगर सही है तो बीमारियों के होने का खतरा कम हो जाता है।
  2. बादाम के तेल में ओमेगा-6 फैटी एसिड्स होते हैं। इससे दिमाग को पोषण मिलता है।
  3. अगर आपका हीमोग्लोबिन कम है तो आज से ही बादाम के तेल को अलग- अलग रूपां में लेना शुरु कर दें। इसमें भरपूर मात्रा में आयरन होता है, जो हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने का काम करता है।
  4. बादाम तेल के सेवन से कोलेस्ट्रॉल संतुलित रहता है। बादाम के नियमित सेवन से दिल से जुड़ी बीमारियों के होने का खतरा कम हो जाता है।
  5. बादाम का तेल विटामिन ई, विटामिन डी और पोटैशियम का खजाना है। इसमें मौजूद कैल्शियम और मैग्नीशियम शरीर की कई आवश्यकताओं को पूरा करते हैं।
  6. गर्भावस्था में बादाम तेल का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है। गर्भावस्था में बादाम तेल के सेवन से डिलीवरी के नॉर्मल होने की संभावना बढ़ जाती है।

इसे भी पढ़े: आंखों की नाजुक त्वचा पर नहीं आएंगे काले घेरे, लगाएं बादाम का तेल

Rajsthan में मिले बड़े बदलाव के संकेत, Sachin Pilot को क्या मिलेगा? Ashok Gehlot| Rahul Gandhi

About Post Author

Author

administrator