Read Time:2 Minute, 8 Second

देश में ऑक्सीजन की बढ़ती मांग को देखते हुए केंद्र सरकार ने 50 हजार मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन आयात करने का फैसला लिया है। इस संबंध में जल्दी ही टेंडर जारी किए जाएंगे। इसके साथ ही कोरोना प्रभावित 12 राज्यों में ऑक्सीजन आपूर्ति की निगरानी करने के लिए मैपिंग प्रणाली की शुरुआत करने का भी फैसला लिया गया है।

एम्पावर्ड ग्रुप-2 की बैठक लिया गया निर्णय
दरअसल देश में कोविड के इलाज के लिए आवश्यक चिकित्सा उपकरणों और ऑक्सीजन की उपलब्धता की समीक्षा करने के लिए एम्पावर्ड ग्रुप-2 की बैठक आयोजित की गई। बैठक में तीन महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए।

पीएम केयर्स फंड के तहत लगेगा ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र
कोरोना प्रभावित 12 राज्यों में ऑक्सीजन उत्पादन की स्थिति पर चर्चा की गई। साथ ही आयात के लिए एमईए के मिशनों द्वारा पहचाने जाने वाले संभावित स्रोतों का भी पता लगाया जाएगा। बैठक में देश के दूरदराज इलाकों में पीएम केयर्स फंड के तहत 100 अस्पतालों में ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र लगाने का भी फैसला लिया गया।

12 राज्यों में ऑक्सीजन की मांग
इसके अलावा देश में कोरोना से प्रभावित 12 राज्यों में महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, गुजरात, यूपी, दिल्ली, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान हैं। इन सभी राज्यों में अचानक कोरोना के मामले बढ़ने से अस्पतालों में बोझ बढ़ गया है और ऑक्सीजन की कमी होने लगी है।

About Post Author

Author

administrator