Read Time:3 Minute, 36 Second

Current News: देश में शुक्रवार को कोरोना के अब तक के सर्वाधिक 4 लाख 01 हजार 911 नए मामले सामने आए, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1 करोड़ 91 लाख 57 हजार 094 हो गई। साथ ही देश में सक्रिय मरीजों की संख्या 32 लाख पार कर गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, 3521 और मरीजों की मौत हो जाने से संक्रमण के कारण अब तक दम तोड़ चुके लोगों की कुल संख्या बढ़कर 2,11,835 हो गई। सक्रिय मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। अब यह बढ़कर 32,63,966 हो गई है, जो संक्रमण के कुल मामलों का 16.90 प्रतिशत है।

लोगों के ठीक होने की दर गिरकर 81.99 प्रतिशत हो गई है। देश में अब तक 1,56,73,003 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि, मृत्यु दर 1.11 प्रतिशत है।

पिछले 24 घंटे में 3521 और लोगों की मौत हुई है, जिनमें से महाराष्ट्र में 828, दिल्ली में 375, उत्तर प्रदेश में 332, कर्नाटक में 217, छत्तीसगढ़ में 269, गुजरात में 173, राजस्थान में 155, झारखंड में 120, पंजाब में 113 और तमिलनाडु में 113 लोगों की मौत हुई है। देश में संक्रमण के कारण अब तक कुल 2, 11,835 लोगों की मौत हो चुकी है, जिनमें से महाराष्ट्र में 68,813, दिल्ली में 16, 148, कर्नाटक में 15,523, तमिलनाडु में 14,046, उत्तर प्रदेश में 8581 लोगों की मौत हुई है।

इस बीच अप्रैल में कोरोना ने संक्रमण एवं मौतों के सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए। इस दौरान कोरोना से सबसे ज्यादा संक्रमण और मौतें हुई हैं। कोरोना के अब तक के कुल मामलों के 35.3 फीसदी संक्रमण और 22 फीसदी मौतें अप्रैल में दर्ज की गई हैं।

डॉक्टर के परामर्श पर ही रेमडेसिविर दवा दी जाएगी नई दिल्ली। केंद्र ने शुक्रवार को उच्चतम न्यायालय से कहा कि चिकित्सा प्रोटोकॉल के तहत सीमित तौर पर केवल कोविड- 19 के गंभीर मरीजों को ही चिकित्सक के परामर्श के आधार पर वायरल-रोधी दवा रेमडेसिविर दी जाएगी। न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड की अध्यक्षता वाली पीठ को बताया गया कि कुछ समय से इस बात की मांग बढ़ रही है कि ऐसे लोगों को भी रेमडेसिविर के उपयोग की अनुमति दी जाए, जो घर में रहकर निजी चिकित्सा परामर्श के जरिए अपना उपचार करा रहे हैं। केंद्र ने हलफनामे में कहा कि मांग के पक्ष में यह तर्क दिया जा रहा है कि रेमडेसिविर के उपयोग की अनुमति देने से अस्पतालों पर बोझ कम हो जाएगा और इस तरह एक मरीज घर पर ही रहकर अपने निजी डॉक्टर से उपचार करवा सकता है।

About Post Author

Author

administrator