August 4, 2020

करंट न्यूज़

खबर घर घर तक

टर्म इंश्योरेंस लेने से पहले ध्यान रखें यह चार बातें

Take care of these four things before taking Term Insurance

टर्म प्लान इंश्योरेंस पॉलिसी का सबसे विशुद्ध रूप होता है| जीवन बीमा लेने का सबसे सरल तरीका टर्म इंश्योरेंस ही होता है इसमें बीमा लेने वाला व्यक्ति एक निश्चित समय तक प्रीमियम का भुगतान करता रहता है|

यदि निश्चित अवधि के दौरान बीमा धारक की मृत्यु हो जाती है तो सम एश्योर्ड या एकमुश्त राशि उसके परिवार या नॉमिनी को दे दी जाती है| टर्म प्लान में हर साल मामूली प्रीमियम देने के बाद आपको कुछ विशेष सालों के लिए कवर उपलब्ध करवाया जाता है|

आमतौर पर टर्म पॉलिसी 10 साल 15 साल 20 साल 25 साल और 30 सालों के लिए ली जाती हैं| न्यूनतम कवर के लिए एक व्यक्ति की जरूरत दूसरे व्यक्ति से अलग हो सकती है |

इसे भी पढ़ें: पेट्रोल, डीजल के दाम में गिरावट का सिलसिला थमा, कच्चे तेल में भी नरमी

लेकिन कहा जाता है कि 1 कमाने वाले सदस्य के पास उसकी वार्षिक आय का कम से कम 10 गुना बीमा होना चाहिए| साथ ही यह भी सलाह दी जाती है कि आप अपनी आय में वृद्धि के साथ कवर बढ़ाएं और इंश्योरेंस खरीदें|

टर्म इंश्योरेंस प्लान का प्रीमियम 3 फैक्टर पर निर्भर करता है मसलन कवरेज की राशि और टर्न एक ही उम्र अवधि और जीवन का वर के लिए प्रीमियम राशि बीमा करता से बीमा करता के लिए अलग-अलग होगी इसलिए टर्म इंश्योरेंस खरीदने से पहले ऑनलाइन तुलना करना उचित है|

कितने तरह के होते हैं टर्म इंश्योरेंस

उम्र बढ़ने के साथ व्यक्ति की बीमा जरूरतें भी बढ़ती है कुछ बीमा कंपनी ऐसी योजनाओं की पेशकश करती हैं जो बीमा राशि में वृद्धि या कमी के साथ आती है|

टर्म इंश्योरेंस में सबसे महत्वपूर्ण नामांकन होता है| यह सुनिश्चित करने के लिए की बीमारी आए आपकी मृत्यु के मामले में जिसके नाम उल्लेख आपने किया है उसको मिलती है| इसलिए आपको बीमा खरीदते समय नॉमिनी की डिटेल भी भरनी चाहिए|

Image Source – Google

Share and Enjoy !

0Shares
0 0

Pin It on Pinterest