टैटू का फैशन बन न जाए आपकी जान का खतरा

टैटू का फैशन बन न जाए आपकी जान का खतरा

आज के समय में टैटू का फैशन ज्यादा है| ये ज्यादातर युवाओं में देखने को मिल रहा है| ये एक तरह का स्टाइल भी बन चुका है|आज कल के सभी युवाओं में एक अलग ही फैशन चल रहा है| युवा अपने शरीर के अलग – अलग हिस्सों में टैटू बनवाने का शौक रखते है|

टैटू का शौक भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी बहुत है| 18-29 वर्ष के 38 प्रतिशत अमेरिकियों के शरीर पर टैटू होते हैं| अपनी उम्र के लोगों को टैटू करवाते देख टीनएजर्स इसको फैशन स्टेटमेंट्स समझ लेते है और खुद भी टैटू बनवाने की इच्छा पाल लेते है|

इसे भी पढ़े : यमुना नदी पहुंची खतरे के निशान के पार, दिल्ली में बाढ़ आने की संभावना

इंस्टा से भी जुड़े :http:// https://www.instagram.com/

पुराने जमाने में महिलाओं की शादी होते ही जबरदस्ती उनके हाथ पर उनके पति के नाम का टैटू बनवा दिया जाता था, वो भी महिला की रज़ामंदी के बगैर| पहले महिलाओं पर टैटू बनवाने के लिए दवाब डाला जाता था|

टैटू हर कोई बनवा रहा है| छोटे से लेकर बड़े तक सब इसके दीवाने है| कोई अपने नाम का, भगवान का, माँ – बाप का, या कोई अपने प्रेमी और प्रेमिका के नाम के टैटू बनवा लेते है|

टैटू बनवाते वक्त कुछ सावधानी बरतें:-

जहरीले तत्वों का खतरा

टैटू बनाने से हमारी स्किन को बहुत नुकसान होता है क्योंकि टैटू बनाते समय एक अलग इंक का इस्तेमाल होता है| जो हमारी स्किन के लिए काफी खतरनाक होता है| टैटू बनाने के लिए ब्लू कलर की इंक का इस्तेमाल किया जाता है जिसमें एल्यूमिनियम और कोबाल्ट होता है| ब्लू कलर के अलावा और रंगों में कैडियम, क्रोमियम, निकल व टाइटेनियम जैसी कई धातुएं मिली रहती हैं, जो स्किन के लिए अच्छी नहीं होती है|

त्वचा का नुकसान

टैटू का शौक रखने वाले अपनी त्वचा को होने वाले नुकसान के बारे में नहीं सोचते| जिससे त्वचा में सूजन, लालिमा, मवाद, सूजन जैसी कई तरह की समस्याओ का सामना करना पड़ता है| इसके अलावा इन्फेक्शन भी हो सकता है| टैटू बनवाने की बाद भी लोगों को त्वचा सम्बन्धी रोग जैसे परेशानियों का सामना करना पड़ता है|

हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें 

हेपेटाइटिस बी टीका

आपको जानकारी के लिए बता दें कि टैटू बनवाने से पहले लोगों को हेपेटाइटिस बी का टीका लगवा लेना चाहिए| जब भी टैटू बनवाना हो तो किसी स्पेशलिस्ट से ही टैटू बनवाए | साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें| जिस जगह पर टैटू बनवाएं वहां पर रोजाना एंटीबायोटिक क्रीम जरूर लगाते रहें|

कैंसर रोग

कई बार हम समाज में बढ़ते टैटू के फैशन के साथ खुद को भी उसी में ढाल लेते है| टैटू हम बनवा तो लेते है लेकिन उससे होने वाली सोराइसिस नाम की बीमारी की जानकारी हमें नहीं होती| अगर एक ही व्यक्ति पर इस्तेमाल होने वाली सुई का अगर दूसरे व्यक्ति पर इस्तेमाल किया गया हो तो उससे त्वचा सम्बन्धी बीमारी, एचआईवी और ब्लड कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों के होने का डर रहता है|

मांसपेशियों का खतरा

टैटू बनवाने के बाद हम उनसे होने वाली समस्याओं से अनजान रहते है| जब हम टैटू बनवाते है तो उसमे कई डिज़ाइन ऐसे होते है जिसमे सुइयों को शरीर के अंदर गहराई तक चुभा कर टैटू बनाया जाता है| इससे हमारी मांसपेशियों को काफी नुकसान पहुंचता है| टैटू बनवाते वक्त बहुत दर्द भी होता है|

Image source : Google

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *