this sawan take care of your health alongwith fasting

सावन व्रत के साथ रखें सेहत का ख़ास ख्याल

जुलाई का महीना आ गया है और इसी महीने की 17 तारीख से सावन भी शुरू होने को है| सावन का पहला सोमवार 22 जुलाई को है| सावन के महीने में लोग भगवान शिव की आराधना करते हैं और भोले को मनाने के लिए सावन के हर सोमवार व्रत रखते हैं| सावन के सोमवार का व्रत खासतौर पर महिलाएं रखती हैं, क्योंकि हमारे देश में ऐसी मान्यता है कि ऐसा करने से मनचाहे वर की प्राप्ति होती है| सावन में रखे जाने वाले व्रतों को सावन के चार सोमवार व्रत के नाम से जाना जाता है|

सावन में लोग शिवजी के मंदिरों और अपने घरों में रुद्राभिषेक करवाते हैं| ऐसा माना जाता है कि इससे भोले भंडारी प्रसन्न होते हैं| सावन के व्रत में शिव पूजा के बाद सोमवार व्रत की कथा सुनना आवश्यक होता है| व्रत रखने वालों को दिन में एक बार भोजन करना होता है वो भी सूर्यास्त के बाद| सावन के व्रत में खाने पीने को लेकर खास सावधानी बरतनी पड़ती है|

इसे भी पढ़े : थ्रोम्बोसिटोपेनिया : एक असामान्य बीमारी

व्रत के दौरान कुछ लोग एक टाइम भोजन करते हैं जबकि कुछ लोग पूरा दिन फलाहार पर ही रहते हैं| कुछ लोग पूरा दिन भूखे रहते हैं जिसकी वजह से उनका स्वास्थय बिगड़ जाता है| पूरा दिन भूखे रहने की गलती न करें इससे स्वास्थय को बहुत हानि पहुँच सकती है|

व्रत में क्या खाएं

इस बात का ख्याल रखें की आपके शरीर को जरुरी पोषक तत्त्व मिलें|

-खाली पेट ना रहें, ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थों का सेवन करें जिससे शरीर में पानी की कमी नहीं होगी और डिहाइड्रेशन भी नहीं होगी|

-30 से 50 ग्राम पनीर या चना एवं 500 से 750 मिलीलीटर दूध या दही सेवन जरूर करें|

-दिन में 7 – 8 गिलास पानी जरूर पियें और साथ ही मूंगफली और मखाने भी खा सकते हैं|

-ताज़ा फल, जूस या फ्रूट सलाद बना कर खाएं| यह स्वादिष्ट होने के साथ साथ स्वास्थवर्धक भी होता है|

-कूटू के आटे के रोटी या इडली भी स्वाद और सेहत से भरपूर होती है|

-इसके अलावा सिंघाड़े के आटे का हलवा, साबूदाना खीर व खिचड़ी और फलाहारी भुजिया का भी सेवन कर सकते हैं|

-व्रत के सामक की खीर बना के खा सकते हैं और अगर कुछ चटपटा खाना हो तो सामक की मसालेदार खिचड़ी भी बना सकते हैं|

-खीरे, कद्दू, व लौकी का रायता आपके खाने को करेगा कम्पलीट|

-इसके अलावा एनर्जी के लिए केला या केले का शेक भी पी सकते हैं| वह शरीर को ऊर्जा देगा और इससे पेट भी जल्दी भरेगा|

-बीच बीच में ज्यादा भूख लगे तो ड्राई फ्रूट्स खा लें| ये सेहत और पेट दोनों का ख्याल रखेगा|

ये चीज़ें भूलकर भी ना खाएं

-लड्डू, बर्फी, तले हुए आलू जैसी चीज़ों से परहेज़ करें|

-कूटू और सिंघाड़े के पुराने आटे का इस्तेमाल ना करें क्योंकि ये कुछ समय के बाद ख़राब हो जाता है| इसे खाने से डायरिया होने का खतरा हो सकता है|

-ज्यादा तला, भुना, तेज़ मीठा व बिना नमक का खाने से बचें| इससे ब्लड प्रेशर की शिकायत हो सकती है|

-बारिश के मौसम में संक्रमण फैलने का खतरा रहता है इसलिए तले भुने खाने से दूर रहें| यह वज़न को बढ़ाता है और शुगर को भी प्रभावित करता है|

-व्रत कर के ज्यादा देर भूखे रहने से एसिडिटी हो सकती है इसलिए ठंडा दूध पियें एवं थोड़ी थोड़ी देर में कुछ खाते रहें|

-डायबिटीज के मरीज़ इस बात का खास ख्याल रखें| ज्यादा देर भूखे ना रहें, कुछ ना कुछ खाते रहें और ज्यादा से ज्यादा पानी पियें|

ऐसी मान्यता है कि सच्चे मन से व्रत करने, आराधना करने, फूल, भांग व प्रसाद चढाने से भोले बहुत जल्दी प्रसन्न होते हैं और मनोकामना पूर्ण करते हैं|

Image Source : Google

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *