May 28, 2020

करंट न्यूज़

खबर घर घर तक

UP सरकार को प्रवासी मजदूरों की नहीं, अपनी छवि की चिंता है,पढ़िए पूरी खबर……

योगी सरकार

UP सरकार बसों को लेकर जो राजनीति कर रही है वो राजनीति ही नहीं बल्कि ओछी राजनीति से भी निचले स्तर की श्रेणी मे आता है,कांग्रेस लगातार दिल्ली-यूपी के बॉर्डर पर बसों से प्रवासियों को भेजने के लिए कह रही है,लेकिन योगी सरकार केवल अपनी छवि की चिंता करते हुए ‘लेटर गेम’ खेल रही है|

दरअसल,सबसे पहले कांग्रेस ने 16 मई को 1000 बसों से प्रवासियों को भेजने के लिए यूपी सरकार के सामने प्रस्ताव रखा, जिसमें 500 बसें नोएडा बॉर्डर,500 बसें गाजीपुर बॉर्डर से भेजी जानी थी| अब बसें आकर खड़ी भी हो गई|

करीब दो दिन के लम्बे इंतजार के बाद 18 मई की शाम 4 बजे इस प्रस्ताव को योगी सरकार ने स्वीकार करते हुए कांग्रेस से चालक व परिचालक की लिस्ट जैसी तमाम चीजें मांगी,लेकिन क्या वाकई में बसों के फिटनेस के अलावा किसी भी चीज की लिस्ट मांगने इस मुश्किल हालात में मांगने की जरूरत थी? फिर भी कांग्रेस ने तय समय से पहले ये लिस्ट योगी सरकार को दे देती है|

इन्हे भी पढ़ें:-उत्तरप्रदेश में सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां,जानिए क्या है मामला…?

लेकिन दोबारा 18 मई की देर रात करीब 11:30 बजे फिर योगी सरकार ने कांग्रेस से तमाम दस्तावेजों के देने के बावजूद 1000 बसों को 19 मई की सुबह 10 बजे तक लखनऊ भेजने के लिए कहा है|

अब आप इसी से अंदाजा लगा सकते हैं कि यूपी सरकार अपने श्रमिकों को लाने के लिए कितनी गम्भीर है,पिछले 4 दिनों से हजारों की संख्या में भूखे प्यासे श्रमिक दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर खड़े हैं| कुछ तो महीनों से आस लगाए बैठे हैं| लगभग सभी बसें भी यहीं खड़ी हैं लेकिन इन खाली बसों को करीब 500 किलोमीटर दूर लखनऊ ले आने का क्या औचित्य बनता है?

चलिए मान लेते हैं आपके हिसाब से कांग्रेस 1000 बसों के बजाय 800 या 700 बस भेजती है लेकिन भेज तो रही है न,ये भी मान लेते हैं कि बसों की लिस्ट में बसों के अलावा दूसरे वाहन की जानकारी दी गई,लेकिन इनकी संख्या पर राजनीति करने का बहुत वक्त है| क्या योगी जी अपनी छवि की चिंता कर रहे हैं या कांग्रेस की मदद से डर है? इस वक्त भी इतने निचले स्तर की राजनीति अक्षम्य ही नहीं बल्कि जघन्य अपराध है|

UP सरकार

प्रशांत सिंह – टीवी पत्रकार ये लेखक के निजी विचार हैं।

Image source:-https://www.google.com

Share and Enjoy !

0Shares
0 0 0

Pin It on Pinterest