Read Time:2 Minute, 52 Second

नगर निगमों में कूड़े से बिजली बनाने का लगेगा संयंत्र, कंपनियों के चयन की प्रक्रिया शुरू

Waste Management Nagar Nigam: शहरों में निकलने वाले कूड़े से अब परेशान होने की जरूरत नहीं है। राज्य सरकार व्यवस्था करने जा रही है जिससे इसका निस्तारण भी हो जाएगा और लोगों का घर और सड़क भी जगमग होगी। मतलब साफ है, प्रदेश के नगर निगमों में कूड़े से बिजली बनाने का संयत्र लगाया जाएगा। इस दिशा में काम भी शुरू हो गया है सात राहरों में कंपनी का चयन वेस्ट टू एनर्जी प्लांट की स्थापना शहरों में निकलने वाले कूड़े से अब परेशान होने की जरूरत नहीं है।

राज्य सरकार व्यवस्था करने जा रही है जिससे इसका निस्तारण भी हो जाएगा और लोगों का घर और सड़क भी जगमग होगी। मतलब साफ है, प्रदेश के नगर निगमों में कूड़े से बिजली बनाने का संयत्र लगाया जाएगा। इस दिशा में काम भी शुरू हो गया है

इसे भी पढ़े:BJP politics in Bengal-बंगाल में भाजपा के रोड शो पर पथराव

सात् राहरों में कंपनी का चयन वेस्ट टू एनर्जी प्लांट की स्थापना है। इन कंपनियों को संयंत्र लगाने के लिए जमीन देने की दिशा में काम शुरू हो चुका है। गाजियाबाद में जमीन चिह्नित होने के बाद लीज डीड हो चुकी है। इसके अलावा अन्य शहरों में जमीन चिह्नित करने की दिशा में काम चल रहा है ।

नगर निगम जमीन के साथ कूड़ा भी देंगे

Waste Management Nagar Nigam: कूडे से बिजली बनाने के लिए नगर निगम कपनियों को एग्रीमेंट के आधार पर जमीन देगे। इसके साथ ही शहरी से निकलने वाला कूडा भी देंगे। इस कूड़े से कपनिय बिजली बनाएगी और इसके एवज में होने वाले मुनाफे में नगर निगम व कंपनियों की हिस्सेदारी तय होगी। शहरों में कूड़े से बिजली बनाने का संयंत्र लगाने के लिए उच्चाधिकार समिति का गठन किया है। नगर निगमों को इस समिति के समक्ष अपना प्रस्ताव रखना होता है। इसके बाद उच्चाधिकार समिति इस पर फैसला करती है।

इसे भी पढ़े: https://timesofindia.indiatimes.com/city/patna/heres-what-to-look-forward-to-in-2021/articleshow/80050901.cms

Sachin Pilot की बातों को माना हाईकमान, Ashok Gehlot क्या करेंगे ?

About Post Author

Author

administrator