Breaking News

Whatsapp यूनिवर्सिटी

Whatsapp यूनिवर्सिटी : क्या आप भी है इसका हिस्सा जानिए पूरा सच…………..???

0 0

Whatsapp यूनिवर्सिटी आज कल के मॉडर्न दौर में,आप भी  तो इस्तमाल Whatsapp ही होंगे| भारत जैसे देश में जहाँ  हर किसी के पास मोबाइल फ़ोन्स है उनके लिए तो Whatsapp चलाना कोई बड़ी बात नहीं है|

ये तो एक फैशन स्टैंडर्ड बन गया है| हर कोई सुबह शाम ‘गुड मॉर्निंग’ और ‘गुड नाईट’ के मेसेज शेयर करता ही रहता है|और लोग एक दुसरे को फ़ोन करने के बजाए मेसेज कर के काम निपटा देते है|

क्या है Whatsapp?

Whatsapp मैसेंजर (अंग्रेजी: WhatsApp Messenger) स्मार्ट फोनों पर चलने वाली एक प्रसिद्ध तत्क्षण मेसेजिंग सेवा हैं। इसकी सहायता से इन्टरनेट के द्वारा दूसरे ‘वाट्सऐप’ उपयोगकर्ता के स्मार्टफ़ोन पर text मेसेज संदेश के अलावा ऑडियो, छवि, वीडियो तथा अपनी स्थिति (लोकेशन) भी भेजी जा सकती है।

वाट्सऐप पर 90 करोड़ अधिक उपयोगकर्ताओं के साथ, यह विश्व का दूसरा सबसे लोकप्रिय तत्क्षण मैसेंजर है|

Whatsapp यूनिवर्सिटी क्या हैं?

WhatsApp को आमजन की भाषा में ‘WhatsApp यूनिवर्सिटी’ भी बुलाया जाता हैं। ये एक ऐसा अनोखा app हैं जिसके पास ऐसी चाभी हैं जो हर ताले को खोल देती हैं|

क्योंकि यहाँ पर गुप्त रोगों से लेकर कैंसर तक, घर से लेकर दूसरे ग्रहों तक, सुई से लेकर एरोप्लेन तक और इंसान से लेकर भगवान तक की तमाम जानकारी मिल जाती है।

आज के समय में जब पूरा विश्व कोरोना से लड़ रहा हैं और वैज्ञानिक भी इसकी ‘वैक्सीन’ ढूढ़ने की पूरी कोशिश कर रहे तो, इस whatsapp यूनिवर्सिटी के पास इसके भी सारे तोड़ हैं|

जो पढ़े लिखे लोग अपनी शोध और रिसर्च में नहीं ढूढ़ पा रहे वो whatsapp यूनिवर्सिटी के मेसेजस ने ढोढ निकला हैं|

बढ़ती गलत खबरें

Whatsapp का इस्तमाल आम जनता में तोह इतना बढ़ गया हैं की लोग गलत text मेसेज, संदेश के अलावा ऑडियो, छवि, वीडियो भेजने लगे हैं| ये इतने ज़्यदा बढ़ते जा रहे हैं की अब ये चिंता का बड़ा कारण बन गए हैं |

आज कल सभी लॉग बिना जाने समझे ऐसे मेसेजस को आगे बढ़ा देते हैं जो काफी बड़काओ होते हैं|कभी ऐसे मेसेज आग की तरह फ़ैल कर किसी कम्युनिटी, ग्रुप या देश प्रदेश में फ़ैल कर किसी भी उन्होनी का ब्बड़ा कारण हो सकता हैं|

Whatsapp यूनिवर्सिटी में बढ़ती आबादी का कारण ?

दिन बा दिन लोगो के फ़ोन में ये app तेज़ी से इनस्टॉल हो रहा हैं| अमीर हो या गरीब सभी इस यूनिवर्सिटी का हिस्सा बनना चाहता हैं|

इन्हें भी पढ़ें:-मानुषी : अक्षय कुमार के साथ इस फिल्म से डेब्यू कर रही हैं

क्या हैं Whatsapp यूनिवर्सिटी बढ़ती आबादी का मुख्य कारण?

तोह आपको बता दे की इसका सब से बड़ा रीज़न हैं- ‘accessibility’ मतलब की लोगो तक ये app आसानी से पहुंच पा रहा हैं साथ ही इसको इस्तमाल करना भी काफी आसान हैं|

दूसरा कारण हैं टेलीकॉम इंडस्ट्री का ‘डाटा पैक’ को सस्ता कर देना

‘जियो’ और दुसरे सिम ने मोबाइल डाटा पैक को इतना सस्ता कर दिया हैं की हर कोई ise आसानी से इस्तमाल कर सकता हैं| अमीर हो या गरीब| टेलीकॉम के फ्री इंटरनेट की बदौलत ये यूनिवर्सिटी दिन दोगुनी रात चौगुनी स्पीड से बढ़ रही है।

क्या आप इस यूनिवर्सिटी की सबसे ख़ास बात जानते हैं?

वो बात ये है कि यहाँ ज्ञान की गंगा बहाने वाले वो लोग होते हैं जो कभी या तो स्कूल नहीं गए होते हैं या वो होते हैं जिन्होंने अपनी पढ़ाई कभी ढंग से पूरी नहीं की होती हैं |

इन्हीं महान लोगों द्वारा भेजे गए मैसेजेस का आप भी जाने अनजाने अपने दोस्त और दुसरे
ग्रुपस में फॉरवर्ड कर देते हैं|अनपढ़ो या कम बुद्धि वाले लोगो से फैलाया हुआ ज्ञान आप भी आगे बढ़ा देते हैं|

Whatsapp ने इसके विरुद्ध क्या कदम उठाये?

क्यूंकि सोशल मीडिया एक बहुत बड़ा पकटफोर्म हैं तो एक अप्प की भी ज़िम्मेदारी बनती हैं की वो गलत मेसेजस को आगे बढ़ने से रोके इसिलए आपको याद होगा

जब Whatsapp पर लव जिहाद,गो हत्या और मोब लिंचिंग जैसी घटनाओं के फेक वीडियोस बहुत वायरल हो रहे थे तब Whatsapp के द्वारा एहतियात के तौर पर शेयरिंग को एक बार में 5 लोगों तक सीमित किया गया था।

फिर उसके बाद कहा गया कि आप forwarded as recieved भी नहीं कह सकते अगर आप कोई पोस्ट फॉरवर्ड कर रहे हैं तो जवाबदेही आपकी होगी। ऐसे कई कदम उठाने के बावजूद Whatsapp पर फेक न्यूज़ फैलाने का सिलसिला कम नहीं हो रहा है।

इन्हें भी पढ़ें:-सपना चौधरी : आखिर कौन है वो जिसका गुपचुप थामा हरियाणवी जाटी ने हाथ….

अतः Whatsapp के उपयोग करने वाले या कहें Whatsapp यूनिवर्सिटी के ग्रैजुएट जब कोई पोस्ट जांच किये बगैर फैलाते हैं तो न केवल लोगों का GK खराब करते हैं|

बल्कि अन्य बड़े स्तर की समस्याओं को भी पैदा करते हैं जो लम्बे समय में हमारे देश की एकता, अखंडता और सुरक्षा के लिए सही संकेत नहीं है।

काजोल की बहन तनीषा संग था अरमान का अफेयर, इस वजह से टूटा

आप क्या कर सकते हैं?

क्यूंकि आप भी इस यूनिवर्सिटी का हिस्सा हैं इसिलए आपको बहुत मेसेज forward किये होंगे पर क्यूंकि अब आपको इसके ‘साइड इफेक्ट्स’ का पता हैं इसलिए आप से अनुरोध प्रेषित है|

कृपया किसी भी सोशल मीडिया पर कोई जानकारी साझा करने के पूर्व उसकी सत्यता की जांच कर लें और संतुष्टि के बाद ही उसे साझा करें।

Image Source:-www.currentnewsdainik.com

 

 

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply